भारतीय कला में तान्त्रिक प्रवृत्ति | Tantric Trend in Indian Art

भारतीय कला में तान्त्रिक प्रवृत्ति

प्राचीन भारत में गुप्त रहस्यात्मक सिद्धि की क्रिया का नाम तन्त्र था। इसके तीन अंग थे : यन्त्र, मन्त्र और तन्त्र । किसी ताम्रफलक अथवा कपड़े, कागज, ताडपत्र आदि पर …

Read more

लोक कला का प्रभाव | Influence of Folk Art

लोक कला का प्रभाव

लोक कला की जिन विशेषताओं ने आधुनिक कलाकारों को प्रभावित किया है वे निम्नलिखित हैं- 1. सरल बाह्य रेखा के प्रति आग्रह । प्रतिरूपात्मकता की प्रवृत्ति । 2. रंगों तथा …

Read more

यूरोप में उन्नीसवीं सदी की चित्रकला | 19th-Century Painting in Europe

आरम्भिक काल 19वीं सदी के आरम्भिक काल में दाविद् के नेतृत्व में विकसित हुए नवशास्त्रीयतावाद का फ्रांस में बोलबाला था। दाविद् के आसपास एकत्र हुए उनके अनुयायियों व शिष्यों ने …

Read more

कला व परंपरा | Art and Tradition

कला व परंपरा

कला व परंपरा का आपसी संबंध एक ऐसा विषय है जिस पर अनेक कलाकारों व लेखकों ने अपने-अपने दृष्टिकोण से भिन्न मत व्यक्त किये हैं।  वर्तमान में तो भारतीय कलाक्षेत्र …

Read more

यूरोप की अठारहवीं सदी की चित्रकला | 18th Century Painting in Europe

यूरोप की अठारहवीं सदी की चित्रकला

अठारहवीं सदी की चित्रकला राइनलैंड में वाइब्यूकेन के ड्यूक के लिए भवन-निर्माण का कार्य कर रहे फ्रेंच वास्तुकार ने 1765 में लिखा था कि प्राचीन काल में कला की दृष्टि …

Read more

प्रमुख भारतीय कलाकार | Indian Painters

प्रमुख भारतीय कलाकार

तैयब मेहता (1926-) तैयब मेहता का जन्म 1926 में गुजरात में कपाडवंज नामक गाँव में हुआ था। कला की उच्च शिक्षा उन्होंने 1947 से 1952 तक सर जे० जे० स्कूल …

Read more

भारतीय कला के प्रमुख स्थल, प्रवृत्तियाँ और प्रमुख कलाकार ग्रुप | Indian Art Capitals, Trends and Major Artists – Group

भारतीय कला के प्रमुख स्थल, प्रवृत्तियाँ और प्रमुख कलाकार ग्रुप

1857 के प्रथम भारतीय स्वतन्त्रता आन्दोलन के समय भारत की परम्परागत राजस्थानी, मुगल तथा पहाड़ी शैलियों का हारा हो चुका था। ब्रिटिश कला पद्धति का भारत में आगमन आरम्भ हुआ …

Read more

भारतीय पुनरुत्थान कालीन चित्रकला | बंगाल स्कूल | Indian Renaissance Painting

भारतीय पुनरुत्थान कालीन चित्रकला

बंगाल में पुनरुत्थान 19 वीं शती के अन्त में अंग्रजों ने भारतीय जनता को उसकी सास्कृतिक विरासत से विमुख करके अंग्रेजी सभ्यता सिखाने की चेष्टा की अंग्रेजों ने भारतीय कला …

Read more

टीजीटी / पीजीटी कला से जुड़े महत्वपूर्ण प्रश्न | Important questions related to TGT/PGT Arts

टीजीटी / पीजीटी कला से जुड़े महत्वपूर्ण प्रश्न | Important questions related to TGT/PGT Arts

नवप्रभाववाद का प्रथम चित्र ‘स्नान स्थल’ किसने बनाया ? (A) जोधपुर(B) जयपुर(C) उदयपुर(D) कोटा सांझी कला किस पर की जाती है ? (A) कागज पर(B) भूमि पर(C) कलसे पर(D) कपड़े …

Read more

कला व आत्मानुभव | Art and Self-Experience

कला व आत्मानुभव

भौतिक जीवन को कोई नकार नहीं सकता किन्तु यह भी सच है कि अमर्यादित सुखोपभोग के बावजूद मनुष्य अतृप्त ही रहता है, यदि उसके आंतरिक जीवन की आवश्यकताओं की पूर्ति …

Read more

कला का उद्देश्य | कला का प्रयोजन | Purpose of Art

कला का उद्देश्य

कला का उद्देश्य क्या है? मानवेत्तर प्राणी अपनी सहज प्रवृत्तियों पर निर्भर रह कर अपना जीवनकाल सरलता से व्यतीत कर लेते हैं। उनको क्या करने से क्या होगा, क्या करना …

Read more

भारतीय चित्रकला में नई दिशाएँ

भारतीय चित्रकला में नई दिशाएँ

लगभग 1905 से 1920 तक बंगाल शैली बड़े जोरों से पनपी देश भर में इसका प्रचार हुआ और इस कला-आन्दोलन को राष्ट्रीय कहा गया।  1920 के लगभग इस क्षेत्र में …

Read more

असित कुमार हाल्दार (1890-1964 ई०) 

असित कुमार हाल्दार-Asit-Kumar-Haldar

श्री असित कुमार हाल्दार में काव्य तथा चित्रकारी दोनों ललित कलाओं का सुन्दर संयोग मिलता है। श्री हाल्दार का जन्म 10 सितम्बर 1890 को द्वारिकानाथ टैगौर मार्ग कलकत्ता में हुआ …

Read more

आनन्द केण्टिश कुमारस्वामी

आनन्द केंटिश कुमारस्वामी

पुनरुत्थान काल में भारतीय कला के प्रमुख प्रशंसक एवं लेखक  डा० आनन्द कुमारस्वामी (1877-1947 ई०)- भारतीय कला के पुनरुद्धारक, विचारक, आलोचक तथा उसे विश्व के कला जगत् में उचित एवं …

Read more

उच्च पुनर्जागरण या पुनरुत्थान काल की चित्रकला | यूरोपीय उच्च पुनर्जागरण कालीन कला | High Renaissance Painting

यूरोपीय उच्च पुनर्जागरण कालीन कला

16वीं सदी की यूरोपीय उच्च पुनर्जागरण कालीन कला के केन्द्र थे इटली के शहर लोम्बाद वेनिस व रोम। उसके प्रमुख कलाकार थे, आरम्भ में लिओनार्दो, रेफिल व माइकिलेन्जेलो व बाद …

Read more

ईसाई चित्रकला

ईसाई चित्रकला

ईसाई चित्रकला के प्रारम्भिक चरण पहली शताब्दी के अन्त तक ईसाई धर्म का रोमन साम्राज्य में प्रचार हो चुका था व गिरजाघरों के अध्यक्षों के सामने प्रश्न उपस्थित हुआ कि …

Read more

चित्रकला के छः अंग | षडंग | Six Limbs Of Painting

चित्रकला के छः अंग

जयपुर नरेश जयसिंह प्रथम की सभा के राजपुरोहित पंडित यशोधर ने ग्यारहवीं शताब्दी में ‘कामसूत्र’ की टीका ‘जयमंगला’ नाम से प्रस्तुत की। ‘कामसूत्र’ के प्रथम अधिकरण के तीसरे अध्याय की …

Read more

राजवंशों द्वारा संरक्षित चित्रकला | Art Preserved by Dynasties

राजवंशों द्वारा संरक्षित चित्रकला

भारतीय राजवंशों के संरक्षण में पल्लवित चित्रकला को बुद्ध के काल (५०० ई० पू०) से आरम्भ हुआ मानना उचित है रामायण, महाभारत, बौद्ध तथा जैन साहित्य तथा पुराणों में चित्रकला …

Read more

संस्कृति तथा कला

कला संस्कृति एवं सभ्यता

किसी भी देश की संस्कृति उसकी आध्यात्मिक, वैज्ञानिक तथा कलात्मक उपलब्धियों की प्रतीक होती है। यह संस्कृति उस सम्पूर्ण देश के मानसिक विकास को सूचित करती है। किसी देश का …

Read more

Amazing Pencil Drawing

Amazing pencil drawings: Graphite has always been the favourite medium for artists to portray their creativity. Best Awesome Pencil Drawings images  Amazing pencil drawings   Suggested: Ten female influential Artist in …

Read more

Mesopotamian Art

Mesopotamian Art Art, Architecture and Sculpture Early Period (c.4500-3000) The significant medium of Neolithic workmanship in Mesopotamia was ceramics pottery during the early period (c.4500-3000), a sort of quality which …

Read more

बॅरोक कला | Baroque Art | Baroque art and architecture

Baroque Art | बॅरोक कला

क्रमबद्धता चित्रकला के विकास का एक अपरिहार्य तत्त्व है व किसी भी शैली का, उसके क्रान्तिकारी होने के बावजूद, पूर्ण स्वतंत्र व अप्रभावित रूप से जन्म, विकास या ह्रास हुआ …

Read more

15 Best Heart Touching Quotes 5 best ever jokes